प्रधानमंत्री‬ ‪ग्राम‬ ‎सिचाई‬ ‪योजना‬

krishi-shinchai-yojna

हमारे देश के सबसे ज्यादा लोग गावो में निवास करते है एवं हमारे देश को गावो का देश भी कहा जाता है एवं गावो के लोगो का जीवन है वो संपूर्ण रूप से कृषि पर निर्भर है । अभी हमारे देश में बहुत से गाव है जहा पर कृषि एवं सिचाई को लेकर बहुत सारी समस्याओ का सामना करना पड रहा है । किसान आत्महत्या कर रहे थे, इसी को देखते हुए श्री ‪‎नरेन्द्र‬ ‪‎मोदी‬ जी सरकार ने देश के गरीब एवं ग्रामीण लोगो की असुविधाओ को मिटाने के लिए “प्रधानमंत्री‬ ‪ग्राम‬ ‎सिचाई‬ ‪योजना‬” की शुरुवात की है ।प्रधानमंत्री ‪कृषि‬ ‪सिंचाई‬ योजना के तहत 10 अरब 75 करोड 79 लाख 14 हजार रूपये के प्रस्ताव का सर्वसम्मति से अनुमोदन किया गया। इससे अगले 5 वर्षो में जिले के 2 लाख 61 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई का प्रावधान है।

इसमें जिले के हर किसान के हर खेत में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने का प्रस्ताव शामिल करें। खेती का विकास होने से पूरे गांव का विकास होगा। इसके साथ साथ पेयजल तथा निस्तार के लिए पानी की भी व्यवस्था होगी एवं सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश की कृषि योग्य 14 करोड़ हेक्टयर भूमि में से मात्र 44 प्रतिशत ही सिंचित है। इसको पूरे किये जाने का लक्ष्य सरकार ने तय किया है ।

ये महत्वपूर्ण है कि देश की 65 प्रतिशत खेती लायक जमीन पर सिंचाई के साधन फिलहाल नहीं हैं और मॉनसून कमज़ोर होने से इन इलाकों में अकसर किसानों को काफी जूझना पड़ता है। इसलिए यह तय किया गया है कि अब हर ज़िले के लिए एक डिस्ट्रिक्ट इरीगेशन प्लान तैयार किया जाएगा।

इस योजना के तहत कैबिनेट ने एक ऑनलाइन नेशनल एग्रीकल्चरल मार्केट खड़ा करने के प्रस्ताव को भी मंज़ूरी दी है, जिसके पहले चरण में 500 मंडियों को कम्प्यूटराइज़ड किया जाएगा।
इस योजना में 4 घटक शामिल किए गए हैं। इसमें सिंचाई परियोजनाओं, कुंओं से सिंचाई, नहरों के सुधार, पुराने जल स्त्रोतों के जीर्णोद्धार तथा सिंचाई प्रबंधन का प्रशिक्षण शामिल है। जिले का जल बजट तैयार कर उपलब्धता के अनुसार पानी प्रदान किया जाएगा। जिले की कृषि योग्य 2 लाख 80 हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने का इसमें प्रावधान है।
सरकार का दावा है कि इस नई व्यवस्था से मंडियों में बिचौलियों पर नकेल कसने में मदद मिलेगी एवं गरीब किसानो को इनसे बचाया जा सकेगा एवं
दिल्ली में बैठा व्यापारी देश के किसी भी राज्य में अपनी मर्ज़ी के मुताबिक अनाज की खरीद कर सकेगा। साथ ही, किसानों को भी ये मौका मिलेगा कि वो अपने मुनाफे को देखते हुए अपनी उपज देश के उस हिस्से में बेचें जहां उन्हें सबसे अच्छी कीमत मिलने की संभावना हो।

इससे किसानो के विकास में उनके स्तर में वृद्धि होगी सभी को सिचाई के लिए पेयजल की अच्छी सुविधा मुहर करायी जाएगी एवं किसानो को प्रशिक्षण भी दिया जायेगा ।
मै प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की इस अनूठी पहल के लिए उनको हार्दिक धन्यवाद् देता हूँ की उन्होंने गरीब एवं ग्रामीण किसानो के लिए इस महत्वपूर्ण योजना की शुरुवात की।

“मेरा देश बदल रहा है… आगे बढ़ रहा है”