प्रधानमंत्री जन औषधि योजना

PM-jan-aosdhi-yojna

प्रधानमंत्री ‪नरेंद्र मोदी‬ जी द्वारा ‪प्रधानमंत्री जन औषधि योजना‬ की घोषणा 1 जुलाई 2015 को की गई। इस योजना में सरकार द्वारा उच्च गुणमवत्ता वाली जैनरिक (Generic) दवाईयों के दाम बाजार मूल्य से कम किए जा रहें है। यह अभियान Pharmaceutical Department ने Central Pharma sector Undertaking के साथ मिलकर शुरू किया है।
सरकार द्वारा जन औषधि स्टोर बनाए गए है, जहां जेनरिक दवाईयां उपलब्ध करवाई जा रही है। जेनरिक दवाईयां ब्रांडेड या फार्मा की दवाईयों के मुकाबले सस्ती होती है, जबकि प्रभावशाली बराबर ही होती है।
प्रधानमंत्री जन औषधि अभियान मूलत: जनता को जागरूक करने के लिए शुरू किया गया हैं ताकि जनता समझ सके कि ब्रांडेड मेडिसिन की तुलना में जेनेरिक मेडिसिन कम मूल्य पर उपलब्ध हैं साथ ही इसकी क्वालिटी में किसी तरह की कमी नहीं हैं | साथ ही यह जेनेरिक दवायें मार्केट में मौजूद हैं जिन्हें आसानी से प्राप्त किया जा सकता हैं |
इसके दौरान सरकार आम नागरिकों को बाजार से 60 से 70 फीसदी कम कीमत पर दवाइयां मुहैया कराने के उद्देश्य से केंद्र सरकार जल्द ही देशभर में 1000 से ज्यादा जन औषधि केंद्र खोलेगी |
जन औषधि अभियान का मुख्य उद्देश्य जेनेरिक दवायें जो कि सस्ती और अच्छी हैं, उपलब्ध को प्रति लोगो को जागरूक करना |उसके महत्व को समझाना है | जन औषधि/ जेनेरिक दवाओं के लाभ –
1-बड़ी से बड़ी एवम घातक बिमारियों के उपचार के लिए जेनेरिक दवाईयाँ उपलब्ध करायेगा साथ ही यह लोगो के बजट में होंगी |
2- कम कीमत पर दवाई के साथ- साथ गुणवत्ता इस बात की पूरी गेरेंटी जन औषधि अभियान ने लोगो को एवम विक्रेताओं को दी हैं |
3- जेनेरिक दवाओं के प्रति जनता को जागरूक करने का कार्य भी जन औषधि अभियान के तहत होगा |
4- जेनेरिक दवाओं की बिक्री के लिए विक्रेताओं को भी इसकी गुणवत्ता के प्रति जागरूक करने का कार्य जन औषधि अभियान के तहत होगा |
5- जन औषधि अभियान के तहत डॉक्टर्स एवम सरकारी अस्पतालों को भी जेनेरिक दवाओं की गुणवत्ता समझाते हुए उन्हें मरीज को यही दवायें पर्चे पर लिख कर देने के लिए बाध्य किया जायेगा |
7- साथ ही समय पर जेनेरिक दवायें उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी भी जन औषधि अभियान के तहत आएगी |
कौन – कौन जन औषधि स्टोर ओपन कर सकता हैं ?
-कोई भी जिसके पास pharmacist की डिग्री हो उनमे व्यक्ति, NGO या कोई भी इंस्टिट्यूट हो सकता हैं, जन औषधि के लिए एप्लीकेशन देस सकता हैं |
-अगर कोई व्यक्ति जन औषधि के लिए एप्लीकेशन दे रहा हैं तो उसके पास शॉप के लिए पर्याप्त जगह होना चाहिये साथ ही वह किसी अन्य संस्था के आधीन कार्यशील नहीं होना चाहिये |
-जन औषधि स्टोर के लिए सरकार द्वारा की जाने वाली मदद –
– इसको खोलने के लिए सरकार स्टोर मालिको को यह कार्य शुरू करने के लिए 2 लाख रूपये देगी साथ ही कंप्यूटर जैसे हार्डवेयर लगाने के लिए 50 हजार रूपये की मदद की जाएगी |
– जन औषधि स्टोर मालिको के लिए दवायें MRP से 16 % कम में दी जाएँगी | जहाँ से मालिक सीधे कमाई कर सकते हैं |
– इसके अलावा सरकार की जाने वाली बिक्री के अनुसार इंसेंटिव भी देगी |
जन औषधि अभियान सरकार द्वारा चलाया गया एक अच्छा अभियान हैं जिससे गरीबो को बहुत राहत मिलती हैं | हम सभी को जेनेरिक दवायें लेना चाहिये जिससे पैसे की बचत होती हैं | साथ ही हमारे जागने से जेनेरिक दवाओं का उत्पादन बढ़ेगा |
मै हमारे प्रधानमंत्री जी श्री नरेन्द्र मोदी जी को प्रधानमंत्री जन औषधि योजना को शुरू करने के लिए उनका हार्दिक आभार व्यक्त करता हूँ !
“मेरा देश बदल रहा है… आगे बढ़ रहा है”