प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

pradhan-mantri-jeven-bima-v2

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना भारत सरकार द्वारा समर्थित दुर्घटना बीमा योजना है। इसका आरम्भ भारत के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदीजी ने 9 मई 2015 को कोलकाता में किया। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का वार्षिेक प्रीमियम मात्र 12 रूपए है। इस योजना का प्रीमियम ही इस योजना की खासियत बयां कर रहा है। इस बीमा योजना के अंतर्गत 12 रूपए वार्षिक प्रीमियम पर दुर्घटना बीमा किया जाएगा। यह योजना 18 – 70 साल के लोगों के लिए है। यदि इस योजना के अंतर्गत बीमित व्‍यक्ति की दुर्घटना में मौत हो जाती है, या फिर हादसे में दोनों आंखें या दोनो हाथ या दोनों पैर खराब हो जाते हैं, तो उसे 2 लाख रूपए मिलेंगें। इस योजना के संचालन का तरीका ठीक प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना जैसा ही है। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना ,इसकी घोषणा वित्तमंत्री अरुण जेटलीजी ने 28 फरवरी 2015 को अपने वार्षिक बजट 2015-16 में की । भारत की बहुत बड़ी जन संख्या ऐसी हैं जिनके पास किसी भी तरह का जीवन बीमा नहीं हैं इस हेतु प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा शुरू की जाएगी ।प्रधानमंत्री जन धन योजना मे मिली सफलता को मद्दे नजर रखते हुए वित्तमंत्री अरुण जेटली ने पुरे उत्साह के साथ प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना को सामने रखा हैं ।भविष्य में प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा को प्रधानमंत्री जन धन योजना से जोड़ दिया जायेगा ।इसलिए इस योजना के बारे में अच्‍छी तरह सोचें समझे और फिर इसे लेने की कोशिश करें।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एक प्रकार की दुर्घटना बीमा पॉलिसी हैं जिसके तहत दुर्घटना के समय मृत्यु अथवा अपंग होने पर बीमा के राशि के लिए क्लेम किया जा सकता हैं । प्रधामंत्री सुरक्षा बीमा योजना 1 साल तक वेलिड रहेगी जिसे प्रति एक वर्ष बाद रिन्यू करवाना होगा । प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत म्रत्यु एवम पूर्णतः विकलांग होने पर 2 लाख रूपये एवम आंशिक तौर पर अपंग होने पर 1 लाख रुपये बीमा राशि दी जायेगी ।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के मुख्य तथ्य –
1- प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत 18 से 70 वर्ष का व्यक्ति लाभ उठा सकता हैं ।प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से 18 से 70 वर्ष का व्यक्ति जुड़ सकता हैं । प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से जुड़ने पर 12 रुपये प्रति वर्ष की राशि प्रीमियम के तौर पर धारक को देनी होगी

2-प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से जुड़ने के लिए आधार कार्ड का होना जरुरी हैं ।

3-अगर किसी उपभोक्ता का 1 या अधिक बचत खाते हैं तब वे किसी एक बचत खाते के जरिये योजना से जुड़ सकते हैं ।

4-प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का हिस्सा बनने के लिए धारक को सर्व प्रथम अपने आधार कार्ड को बैंक से जोड़ना होगा इसके बाद प्रति वर्ष 1 जून से पहले एक फॉर्म भरकर बैंक में देना होगा । इतनी छोटी प्रक्रिया के बाद धारक प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का लाभ उठा सकता हैं ।

5-इस योजना के लिए धारक को केवल 12 रुपये प्रति वर्ष देना होगा जो कि खाते से बैंक द्वारा सीधे ही काट लिया जायेगा ।

6- दुर्घटना के समय मृत्यु अथवा पूर्ण रूप से शारीरिक विकलांगता होती हैं तब 2लाख रूपये दिए जायेंगे आंशिक विकलांगता के लिए 1 लाख रूपये का कवरेज दिया जायेगा ।

7-प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत योजना से जुड़े रहने के दो आप्शन
-प्रति वर्ष 1 जून से पहले फॉर्म भरे । फॉर्म जमा करने के बाद बैंक प्रीमियम राशि खाते से काट लेगी। -दूसरा आप्शन हैं 2 से 4 वर्ष का लम्बे समय का कवरेज । अगर धारक इसे चुनता हैं तो प्रीमियम राशि प्रति वर्ष स्वतः बैंक द्वारा खाते से काट ली जाएगी ।

8-अभी यह योजना 80 C के तहत टैक्स फ्री हैं । अगर बीमा पालिसी के तहत 1 लाख रूपये दिए जा रहे हैं लेकिन फॉर्म 15G या फॉर्म 15H जमा नहीं किया गया हैं तब कूल आय से 2 % TDS काट लिया जाएगा ।
9- प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत धारक को 2 लाख रुपये का दुर्घटना जीवन बीमा दिया जायेगा ।साथ ही आंशिक नुकसान पर एक लाख का बीमा दिया जायेगा ।इस बीमा राशि के लिए धारक को केवल 12 रुपये प्रति वर्ष अर्थात 1 रुपये प्रति माह की राशि प्रीमियम के तौर पर देनी होगी ।

10-भविष्य मे प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना प्रधानमंत्री जन धन योजना से जोड़ दी जाएगी। यह प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना बैंक से जुड़ी होने के कारण धारक को प्रीमियम भरने की चिंता से मुक्ति मिलेगी क्यूंकि यह राशि सीधे खाते से काट ली जाएगी ।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना अब तक की सबसे सस्ती बीमा योजना मानी जा रही हैं ।
प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना महज 12 रुपये प्रति वर्ष में दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा देती है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना प्रति वर्ष मात्र 330 रुपये में जीवन बीमा देती है। अटल पेंशन योजना 5000 रुपये प्रति माह तक पेंशन मुहैया कराती है, जो कॉन्ट्रीब्यूशन पर निर्भर है। इन योजनाओं की शुरुआत होने के दो दिनों में ही (16/5/2015 तक) करीब 7.22 करोड़ लोगों ने इन योजनाओं में नामांकन करा लिया था ।

मै प्रधानमंत्री जी को इस योजना के शुरुवात करने एवं देश के विकास के लिए उनका हार्दिक आभार व्यक्त करूँगा ।