शिक्षित नहीं हुए तो आरक्षण का कोई फायदा ही नहीं : कृष्णपाल

रविवारको अखिल भारतीय गुर्जर परिषद, राजस्थान और भिवाड़ी के 11 गांवों की ओर से राजेश पायलट पार्क में गुर्जर महासम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन के दौरान शिक्षा को बढ़ावा देने और शादियों में फिजूलखर्ची रोकने, सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने पर चर्चा हुई। इस दौरान तिगरा, हरियाणा से आए अनंतराम तंवर ने सामूहिक कुरीतियों को रोकने के लिए प्रस्ताव रखा। जिसपर राजस्थान सहित छह प्रदेशों के प्रतिनिधियों ने चर्चा की। इस दौरान केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल ने कहा कि समाज के विकास के लिए शिक्षा जरूरी है। आरक्षण मिलने के बाद भी अगर शिक्षित नहीं हुए तो आरक्षण का फायदा भी नहीं है।

उन्होंने कहा कि लड़कियों को भी शिक्षित करना आवश्यक है। युवा अभी से अपनी मंजिल तय करें तभी सफलता मिलेगी। सम्मेलन के माध्यम से मिले सभी विचारों को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। गुर्जर काफी पिछड़े हुए है और शिक्षा से ही इस पिछड़ेपन को दूर किया जा सकता है। सांसद सुखबीर जौनपुरिया ने कहा कि स्वेच्छा से बच्चों की शिक्षा के लिए सभी लोग मिलकर प्रयास करें। सांसद मनोज राजोरिया ने कहा कि गुर्जर समाज का 5 प्रतिशत आरक्षण इंजन की भांति है, इसलिए शिक्षा को बढ़ावा दें और शराब सहित अन्य व्यसनों का त्याग करें। विधायक शकुंतला रावत ने कहा कि लड़कियों को भी पढ़ाया जाना जरूरी है। कार्यक्रम का संचालन अखिल भारतीय गुर्जर परिषद के प्रांतीय अध्यक्ष डॉ. रूपसिंह गुर्जर ने किया। नगरपरिषद के सभापति संदीप दायमा ने आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम में पूर्व मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह, गंगापुर विधायक मानसिंह, जलगांव सांसद रक्षा ताई, दिल्ली पुलिस, डीसीपी भैरूसिंह, आलम पुर मंदिर के महाराज आदित्यनाथ, संयोजक सुल्तान हंसराज, राष्ट्रीय अध्यक्ष सांता राम, जम्मू कश्मीर से मोहम्मद अकरम, खुर्शीद भाटी और ज्ञानेंद्र सहित कई प्रांतों से आए समाज के सांसद और विधायक एवं समाजसेवकों सहित 11 गांवों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इसके अलावा कार्यक्रम में मध्यप्रदेश, हरियाणा, गुजरात, बिहार, पंजाब और उत्तरप्रदेश से अनेक प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

संबोधित करते जिला प्रभारी मंत्री भडाना।

भिवाड़ी. गुर्जर महासम्मेलन को संबोधित करते केंद्रीय मंत्री मंचासीन अतिथि।

भिवाड़ी. राजेश पायलट पार्क में आयोजित गुर्जर महासम्मेलन में उपस्थित समाज के लोग।