डॉ मनोज राजोरिया ने राज्य स्तरीय डॉग विकास बोर्ड के बजट आवंटन एवं कार्य प्रस्ताव पर बैठक ली ।

मैंने आज शासन सचिवालय, राजस्थान जयपुर में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री सुरेन्द्र गोयल जी के साथ राज्य स्तरीय डॉग विकास बोर्ड के बजट आवंटन एवं कार्य प्रस्ताव पर बैठक ली।
इस बैठक में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के सचिव श्री राजीव ठाकुर एवं डॉग क्षेत्र के सभी आठ जिलों के जिला कलक्टर, माननीय विधायकगण, मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं अन्य विभागों के सचिव एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
चॅूकि करौली और धौलपुर दोनों ही जिले डॉग क्ष्ेत्र में आते हैं अतः डॉग विकास बोर्ड के बजट मे से 9 करोड 60 लाख रूपये धौलपुर जिले को एवं लगभग 8 करोड रूपये करौली जिले को आवंटित किये गये है। इस बजट से करौली एवं धौलपुर जिलों की गा्रम पंचायतों में इंटर लोकिंग सडक, सी.सी. रोड, निर्माण, हैण्ड पम्प, सामुदायिक भवन, पानी के कुऐे आदि का निर्माण किया जायेगा।
इस अवसर पर मैंने जिला परिषद् के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के प्रति नाराजगी जाहिर की और निर्देश दिये कि आगामी कार्य योजना तैयार करते समय सांसद, सभी विधायक, जिला प्रमुख, प्रधान, सरपंच, सदस्य जिला परिषद आदि की अनुशंसा पर ही कार्यों का चयन किया जाये।
मैंने बैठक में सुझाव दिया कि डाग विकास बोर्ड के बजट का 10 प्रतिशत हिस्सा मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के तहत उपयोग लेना सुनिश्चित किया जाये जिससे कि गॉवों में जल संरक्षण हेतु कुआ, तालाब आदि का निर्माण एवं संरक्षण किया जा सके।
मैंने सोलर पेनल वाले नल कूप लगाने का भी सुझाव दिया । मैंने यह भी प्रस्ताव दिया कि जिला योजना समिति बना कर प्राथमिकता से कार्य पूर्ण कराये जाये। मनरेगा से कार्या की जिला स्तर पर 60 एवं 40 प्रतिशत का रेशो की गणना जिला स्तर पर तय किये जाने बाबत प्रस्ताव केन्द्र सरकार को प्रेषित किये जाये। जिससे कि अधिकारी अपने कार्य मनरेगा के साथ कनवर्जेंस कर सके।