न्याय आपके द्वार कार्यक्रम

mukhymantri-nayay-aapke-dwar-yojana-for-website

‘न्याय आपके द्वार’ कार्यक्रम के अंतर्गत राजस्व लोक अदालत अभियान ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हो रहा है। राजस्व लोक अदालतों से जहां लंबे समय से न्याय की आस लगाये फरियादियों को चन्द मिनटों में न्याय मिल रहा है, वहीं लोगों में न्याय व्यवस्था के प्रति सम्मान बढ़ रहा है। ऐसे में जहां भी ये अदालतें लगाई जा रही हैं वहां बड़ी संख्या में फरियादी पहुंच रहे हैं।
न्याय आपके द्वार कार्यक्रम में ग्रामीण आपस में बैठकर राजीनामा करने के साथ-साथ फिर से पारिवारिक प्रेम व सौहार्द की तरफ अपने कदम शिद्दत के साथ बढा रहे हैं।
किशनगढ़ की सिलोरा ग्राम पंचायत में जिला स्तरीय समारोह के अन्तर्गत राजस्व लोक अदालत अभियान न्याय आपके द्वार का सोमवार 9 मई को शुभारम्भ किया गया । मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे जी किसानों के हित में कार्यक्रम तथा नीतियां बनाकर कार्य कर रही है। इसी परिपे्रक्ष्य में यह अभियान शुरू किया गया है इसे काश्तकारों को राजस्व संबंधी प्रकरणों के शीघ्र निपटारे में मदद मिलेंगी।
उन्होंने कहा कि राजस्थान में राजस्व संबंधी मुकदमों को न्यूनतम करने के लिए सरकार दृढ़ संकल्पित है। कम से कम अदालती कार्यवाही से अधिकतम राहत प्रदान करने के लिए इस प्रकार के शिविर प्रत्येक ग्राम पंचायत में आयोजित किए जाएंगे। राजस्व मुकदमों को निपटाने के लिए आवश्यक समस्त अधिकारी, कर्मचारी तथा दस्तावेज मौके पर ही पूर्ण कर लिए जाएंगे। लोक अदालत की भावना से किए जाने वाले निस्तारण से मनमुटाव दूर होकर दोनों पक्षों के मन एक हो जाते है।
न्याय आपके द्वार से बहुत से मामलो का निपटारा हुआ है जो मामले 50 वर्षो से भी खिंचे आ रहे है उनका भी निपटारा हुआ है । इससे गरीब एवं किसान भाइयो को बहुत फायदा हुआ है उनके समय एवं धन की बचत हुई है ।
पहले उन्हें अदालत में जाना पड़ता था लेकिन न्याय आपके द्वार कार्यक्रम से उनके निपटारे जल्दी से एवं प्रेमभाव से हो रहे है मैं हमारी मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे जी को इस कार्यक्रम की शुरुवात करने के लिए उनका हार्दिक अभिनन्दन करता हु की उन्होंने गरीब मजदूर एवं किसान भाइयो को समस्याओ के तुरंत निपटारे हेतु इस कार्यक्रम की शुरुवात की ।